राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार डोभाल के बेटों की ‘फर्जी’ कंपनियों का जाल

16 जनवरी 2019
विवेक डोभाल (बायें) की हेज फंड कंपनी अपने भाई शौर्य के कारोबार से जुड़ी है. शौर्य बीजेपी के नेता हैं जो इंडिया फाउंडेशन के प्रमुख हैं.
विवेक डोभाल (बायें) की हेज फंड कंपनी अपने भाई शौर्य के कारोबार से जुड़ी है. शौर्य बीजेपी के नेता हैं जो इंडिया फाउंडेशन के प्रमुख हैं.

कारवां को ब्रिटेन, अमेरिका, सिंगापुर और केमैन आइलैंड से प्राप्‍त व्यापार दस्तावेजों से पता चला है कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल के बेटे विवेक डोभाल केमैन आइलैंड में हेज फंड (निवेश निधि) चलाते हैं. केमैन आइलैंड टैक्स हेवन के रूप में जाना जाता है. यह हेज फंड 2016 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नोटबंदी की घोषणा के महज 13 दिन बाद पंजीकृत किया गया था. विवेक का यह व्यवसाय उनके भाई शौर्य डोभाल के व्यवसाय से जुड़ा है. शौर्य भारतीय जनता पार्टी के नेता हैं और मोदी सरकार के करीब माने जाने वाले थिंक टैंक इंडिया फाउंडेशन के प्रमुख हैं. विवेक डोभाल की यह कंपनी उनके पिता अजीत डोभाल की उस सार्वजनिक अभिव्यक्ति के खिलाफ जाती है जिसे उन्होंने 2011 में प्रकाशित अपनी रिपोर्ट में व्यक्त किया था. रिपोर्ट में अजीत डोभाल ने टैक्स हेवन और विदेशी कंपनियों पर कड़ाई से रोक लगाने की वकालत की थी.

विवेक डोभाल चार्टर्ड वित्तीय विश्लेषक हैं. वे ब्रिटेन के नागरिक हैं और सिंगापुर में रहते हैं. विवेक जीएनवाई एशिया फंड नाम की हेज फंड के निदेशक हैं. 2018 की एक रिपोर्ट के अनुसार डॉन डब्लू. ईबैंक्‍स और मोहम्मद अल्ताफ मुस्लिअम वीतिल भी इसके निदेशक हैं. ईबैंक्‍स का नाम पेराडाइस पेपर्स में भी आया था. वे केमैन आइलैंड में रजिस्टर्ड दो कंपनियों के निदेशक हैं. ईबैंक्‍स पहले केमैन सरकार के साथ काम किया करते थे और उसके वित्त मंत्री और अन्‍य मंत्रियों को सलाह देते थे. मोहम्मद अल्ताफ लूलू ग्रुप इंटरनेशनल के क्षेत्रीय निदेशक हैं. यह कंपनी पश्चिम एशिया में तेजी के साथ विस्तार कर रही हाइपरमार्किट चेन है. जीएनवाई एशिया फंड के कानूनी पते के अनुसार, यह वॉर्क्‍स कारपोरेट लिमिटेड से संबंधित कंपनी है जिसका नाम पनामा पेपर्स में आया था.

कारवां को विवेक और बडे़ भाई शौर्य की कंपनियों के बीच प्रशासनिक संबंध का पता चला है. शौर्य के भारतीय व्यवसायों से संबंधित बहुत से कर्मचारी जीएनवाई एशिया और उसकी कंपनियों के साथ करीब से जुड़े हैं. दोनों भाइयों के कारोबार के तार सऊदी अरब के सत्तारूढ़ परिवार सऊद घराने से जुड़े हैं.

2011 में गुप्तचर विभाग के पूर्व निदेशक अजीत डोभाल ने भारतीय जनता पार्टी को विदेश में भारतीय काला धनः गुप्त बैंकों और टैक्‍स हेवन नाम की रिपोर्ट दी थी. यह रिपोर्ट डोभाल ने एस गुरुमूर्ति के साथ तैयार की थी. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विचारक गुरुमूर्ति फिलहाल भारतीय रिजर्व बैंक के निदेशक हैं. इस रिपोर्ट में टैक्‍स हेवनों पर कड़े कदम उठाने की बात है.

विवेक डोभाल की हेज फंड कंपनी जीएनवाई प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की नोटबंदी की घोषणा के 13 दिन बाद अस्तित्व में आई. . तनवी मिश्रा/कारवां विवेक डोभाल की हेज फंड कंपनी जीएनवाई प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की नोटबंदी की घोषणा के 13 दिन बाद अस्तित्व में आई. . तनवी मिश्रा/कारवां
विवेक डोभाल की हेज फंड कंपनी जीएनवाई प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की नोटबंदी की घोषणा के 13 दिन बाद अस्तित्व में आई.
तनवी मिश्रा/कारवां

कौशल श्रॉफ कारवां के स्‍टाफ राइटर हैं.

Keywords: Ajit Doval The Cayman Islands India Foundation National Security Advisor Shaurya Doval GNY Capital demonetisation tax havens
कमेंट