मुकेश अंबानी के रिलायंस समूह से संबंधित होमशॉप18 के विक्रेताओं ने कंपनी पर लगाया जालसाजी का आरोप

28 सितंबर 2019
होमशॉप18 के 30 विक्रेताओं ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस कंपनी पर धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया है.
ऋषि कोछड़/कारवां
होमशॉप18 के 30 विक्रेताओं ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस कंपनी पर धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया है.
ऋषि कोछड़/कारवां

27 सितंबर को होमशॉप18 के 30 विक्रेताओं ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस कंपनी पर धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया. होमशॉप18 दिन भर चलने वाला टेली शॉपिंग चैनल और ई-कॉमर्स पोर्टल चलाती है. विक्रेताओं के प्रतिनिधियों ने दावा किया कि कंपनी के ऊपर 200 से ज्यादा विक्रेताओं का 150 करोड़ से 200 करोड रुपए बकाया है. इन विक्रेताओं ने सबसे पहले जून के आखिर में तब एतराज जताना शुरू किया जब होमशॉप18 के मालिकाने में बदलाव हुआ. पहले यह कंपनी मुकेश अंबानी के रिलायंस समूह की नेटवर्क मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड की थी लेकिन बाद में इस पर स्काईब्लू बिल्डवेल का अधिकार हो गया. विक्रेताओं ने दावा किया कि वित्त वर्ष 2018 में इस 305 करोड़ रुपए की शुद्ध संपत्ति वाली कंपनी को “धोखाधड़ी” के जरिए शैल कंपनी को बेच दिया गया. कारवां ने स्काईब्लू बिल्डवेल द्वारा कारपोरेट मंत्रालय में दायर वार्षिक रिटर्न का अध्ययन किया. रिटर्न में कंपनी ने अपनी संपत्ति 7 लाख 57 हजार रुपए बताई. कारवां ने पूर्व प्रकाशित रिपोर्ट में बताया था कि स्काईब्लू बिल्डवेल अंबानी के नजदीकी व्यापार सहयोगी महेंद्र नाहटा की है.

6 जून को विक्रेताओं ने पहली बार कंपनी के टेकओवर की बात सुनी थी. प्रसाधन सामग्री की निर्माता कॉस्मेटिक वर्ल्ड के मालिक राजेश सचदेवा ने मुझे बताया कि होमशॉप18 में उनके संपर्क ने व्हाट्सएप में एक प्रेस विज्ञप्ति भेज कर यह जानकारी दी थी. टीवी18 शॉपिंग नेटवर्क लिमिटेड जो नेटवर्क18 की सहायक कंपनी है ने अदल-बदल की फाइल राष्ट्रीय शेयर सूचकांक और बॉबे स्टॉक एक्सचेंज को भेजी है. उसमें लिखा है :

टीवी18 होम शॉपिंग नेटवर्क लिमिटेड ने नए निवेशक स्काईब्लू बिल्डवेल प्राइवेट लिमिटेड से निधिबंधन किया है. इस चरण में कंपनी के वर्तमान शेयरधारकों ने (नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट्स, एसएआईएफ पार्टनर्स, जीएस होम शॉपिंग साउथ कोरिया, ओसीपी एशिया, सीजीओ शॉपिंग कॉर्पोरेशन लिमिटेड और प्रोविडेंस इक्विटी पार्टनर्स) भाग नहीं लिया. निवेश के बाद स्काईब्लू होमशॉप18 में 82.64 प्रतिशत की मालिक बन गई है. वह होल्डिंग कंपनी और प्रमोटर है. इस निवेश के साथ होमशॉप18 एनडब्लू18 एचएसएन होल्डिंग्स पब्लिक लिमिटेड (पीएलसी) और सहयोगी कंपनी नेटवर्क मीडिया एंड प्राइवेट लिमिटेड की सहायक कंपनी नहीं रह गई हैं. कंपनी अपना कॉर्पोरेट और ब्रांड नाम बदलने की प्रक्रिया में है.

दूसरी प्रसाधन निर्माता कंपनी एसएस कॉस्मेटिक्स के मालिक हिमांशु खट्टर को भी ऐसी ही प्रेस विज्ञप्ति प्राप्त हुई थी. दोनों जीजा-साले हैं और खबर मिलने से उन्हें एक तरह की राहत मिली. सचदेवा ने मुझे बताया कि दोनों को लगा था कि “चलो अब हमें हमारा बकाया मिल जाएगा. हमें क्या पता था कि जो हम पिछले तीन-चार महीनों से झेल रहे हैं वह जारी रहेगा.”

“स्काईब्लू की वित्तीय स्थिति के मद्देनजर यदि ये लोग रसूखदार नहीं हैं तो इनके खिलाफ कोई कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही है, एफआईआर दर्ज करने में क्या समस्या है.”

तुषार धारा कारवां में रिपोर्टिंग फेलो हैं. तुषार ने ब्लूमबर्ग न्यूज, इंडियन एक्सप्रेस और फर्स्टपोस्ट के साथ काम किया है और राजस्थान में मजदूर किसान शक्ति संगठन के साथ रहे हैं.

Keywords: Homeshop18 HFCL Mahendra Nahata Reliance Jio Mukesh Ambani
कमेंट