ठाकुरों की दबंगई का विरोध करने पर गोरखपुर के जाति विरोधी नेता गिरफ्तार

07 अक्टूबर 2020
धीरेंद्र प्रताप भारती पूर्वांचल सेना के अध्यक्ष हैं. पूर्वांचल सेना का निर्माण 2006 में हुआ था और इसके छात्र संगठन का नाम आंबेडकर स्टूडेंट्स यूनियन फॉर राइट्स (असुर) है.
फोटो साभार : सुरेंद्र वाल्मीकि
धीरेंद्र प्रताप भारती पूर्वांचल सेना के अध्यक्ष हैं. पूर्वांचल सेना का निर्माण 2006 में हुआ था और इसके छात्र संगठन का नाम आंबेडकर स्टूडेंट्स यूनियन फॉर राइट्स (असुर) है.
फोटो साभार : सुरेंद्र वाल्मीकि

8 सितंबर को गोरखपुर जिले के कुशमौल गांव के सोनू जाटव ने फेसबुक पर एक पोस्टर जारी कर घोषणा की कि वह गांव का प्रधानी चुनाव लड़ेगा. वर्तमान में गांव के प्रधान ठाकुर जाति के विवेक शाही हैं. पोस्ट लिखते ही सोनू के कमेंट बॉक्स पर गालियों की बोछार शुरु हो गई और लोग फोन पर भी उसे गालियां देने लगे.

सोनू को मिल रही धमकियों के खिलाफ गोरखपुर के जाति विरोधी संगठन पूर्वांचल सेना के अध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप भारती ने 14 सितंबर को गोरखपुर के जिला मजिस्ट्रेट के दफ्तर के सामने धरना दिया और चेतावनी दी कि यदि प्रधान को गिरफ्तारी नहीं किया गया तो वह आंदोलन करेंगे. लेकिन चार दिन बाद 18 सितंबर को रात करीब 2 बजे पूर्वांचल सेना के अध्यक्ष भारती और उनके छोटे भाई योगेंद्र को पुलिस ने घर से गिरफ्तार कर लिया.

पूर्वांचल सेना का निर्माण 2006 में हुआ था. सेना के छात्र संगठन का नाम आंबेडकर स्टूडेंट्स यूनियन फॉर राइट्स (असुर) है. गोरखपुर विश्वविद्यालय के दलित नौजवाजों के बीच इसका मजबूत आधार है.

धीरेंद्र की गिरफ्तारी के बारे में मैंने गोरखपुर और अन्य जगहों के सामाजिक कार्यकर्ताओं और बुद्धिजीवियों से बात की. सभी का मानना है कि उनकी गिरफ्तारी राज्य में ठाकुरों के आधिपत्य की बानगी है.

धीरेंद्र ने साल 2006 में पूर्वांचल सेना का गठन किया था. वह और उनके छोटे भाई योगेंद्र जूडो चैंम्पियन हैं और गोरखपुर में जूडो शिक्षक हैं. बहन पिंकी मुक्केबाजी की राष्ट्रीय खिलाड़ी हैं. धीरेंद्र के सबसे छोटे भाई सतेंद्र प्रताप भारती ने मुझे बताया, “मेरे बड़े भाई हमेशा दलितों और बहुजनों की आवाज बुलंद करते हैं. गोरखपुर में जब कोई दलित विरोधी घटना होती है वह पूरी ताकत से उसका विरोध करते हैं.” सतेंद्र फिलहाल डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय, लखनऊ में एमए (अर्थशास्त्र) के अंतिम वर्ष में हैं.

सुनील कश्यप कारवां में डाइवर्सिटी रिपोर्टिंग फेलो हैं.

Keywords: Uttar Pradesh Police Adityanath Yogi Adityanath
कमेंट