शहजादी लातिफा अपहरण मामले में भारत सरकार कटघरे में

25 दिसंबर 2018
इरहन एलल्दी/अनादोलू एजेंसी/गैटी इमेजिस
इरहन एलल्दी/अनादोलू एजेंसी/गैटी इमेजिस

मार्च 2018 को शेख लातिफा बिन मोहम्मद अल मकतूम के यूनाइटेड अरब अमीरात से भागने से जुड़ा एक वीडियो यूट्यूब पर आया. लातिफा दुबई के शासक शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम की बेटी हैं. लातिफा ने शेख के तानाशाही भरे रवैये को अपने भागने का कारण बताया था. शहजादी ने बताया कि जब उन्होंने 2002 में भागने की कोशिश की थी तब उनके पिता ने उनका टॉर्चर किया और तीन साल और चार महीनों के लिए जेल में डलवा दिया था. लातिफा ने दावा किया, “हो सकता है ये मेरा आखिरी वीडियो हो.”

इस साल फरवरी में शहजादी ने फ्रांसीसी व्यवसायी और पूर्व जाजूस अर्वे जबेयर तथा उनकी मित्र टीना योहियानेन के साथ एक बार फिर भागने का प्रयास किया. जबेयर खुद एक बार यूएई से भाग चुके थे. इन लोगों की योजना भारत से होकर अमेरिका जाने की थी. शहजादी के दोस्तों का कहना है कि 4 मार्च को जब वे तीनों गोवा तट के पास अपने याट पर थे तो यूएई के कमांडो और भारतीय तट रक्षक बल के लोग उनके याट में दाखिल हुए. खबरों के अनुसार लंदन की गैर सरकारी संस्था डीटेंड इन दुबई (दुबई में कैद) के सह संस्थापक राधा स्टर्लिंग के साथ राजकुमारी ने संपर्क किया. जबेयर और योहियानेन का कहना है कि एजेंसियों के लोगों ने याट में दाखिल होकर तोड़फोड़ और लोगों के साथ मारपीट की और अपहरण करने से पहले जान से मार देने की धमकी दी. उसके बाद से लातिफा को सार्वजनिक रूप से नहीं देखा गया है लेकिन दुबई की कॉर्ट का दावा है कि वह जीवित हैं.

क्योंकि यह मामला अंतर्राष्ट्रीय जल क्षेत्र से संबंधित है इसलिए मामले में भारत के दखल पर कानूनी सवाल उठे हैं. हालांकि भारत ने कार्रवाई पर कोई टिप्पणी नहीं की है लेकिन समाचार पत्र बिजनेस स्टैंडर्ड ने उच्च स्रोतों के हवाले से बताया है कि इस कार्रवाई में तीन तट रक्षक पोतों, हेलिकॉप्टरों और समुद्री निगरानी विमान का इस्तेमाल हुआ था.

घटना के बाद डीटेंड इन दुबई ने लातिफा के कथित अपहरण के मामले में टोबी कैडमैन से संपर्क किया. कैडमैन अदालतों में अंतर्राष्ट्रीय जवाबदेही की वकालत करने वाली लंदन की संस्था गुएर्निका 37 अंतर्राष्ट्रीय न्याय चैंबर के सह संस्थापक हैं. कैडमैन ने लातिफा को पेश करने तथा अंतर्राष्ट्रीय जल क्षेत्र में याट पर छापा मारने के लिए भारत पर मुकदमा चलाने के लिए राष्ट्र संघ के जबरन गायब और इच्छा के विरुद्ध अपहृत किए गए लोगों के कार्य समूह में शिकायत दर्ज कराई.

कारवां के स्टाफ राइटर सागर ने इस कथित अपहरण और भारत की संलिप्तता एवं भारत की अंतर्राष्ट्रीय छवि पर इसके असर पर कैडमैन से ईमेल पर संपर्क किया.

सागर कारवां के स्‍टाफ राइटर हैं.

Keywords: Indian Coast Guard Princess Latifa Ruler of Dubai United Nations Dubai
कमेंट