“फडणवीस का कार्यकाल प्रदेश के 14000 किसानों की आत्महत्या का इतिहास है”, सुप्रिया सुले

18 अक्टूबर 2019
प्रदीप गौड़/मिंट/गैटी इमेजिस
प्रदीप गौड़/मिंट/गैटी इमेजिस

सुप्रिया सुले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय समिति की सदस्य हैं और महाराष्ट्र के बारामुड़ा निर्वाचन क्षेत्र से तीन बार संसद सदस्य रही हैं. एनसीपी प्रमुख और अनुभवी मराठा राजनीतिज्ञ शरद पवार की बेटी सुले, पार्टी के सबसे प्रमुख नेताओं में से एक हैं. महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए एनसीपी ने कांग्रेस के साथ गठबंधन किया. लोकसभा चुनावों में, महाराष्ट्र में एनसीपी ने सिर्फ चार और कांग्रेस ने केवल एक सीट जीती जबकि भारतीय जनता पार्टी-शिवसेना गठबंधन ने कुल 48 में से 41 सीटों पर जीत दर्ज की थी.

कारवां के रिपोर्टिंग फेलो तुषार धारा ने 16 अक्टूबर को उनके मुंबई कार्यालय में उनका इंटरव्यू किया. सुले ने एनसीपी-कांग्रेस गठबंधन की चुनावी तैयारियों, बीजेपी के अभियान की रणनीति और उन मुद्दों पर चर्चा की जो मौजूदा चुनावी राजनीति से गायब हैं.

तुषार धारा : पश्चिमी महाराष्ट्र में एनसीपी का मजबूत आधार है. बीजेपी ने इसमें सेंध लगाने की कोशिश की है और एनसीपी तथा कांग्रेस के कई सारे नेता पार्टी छोड़कर बीजेपी में शामिल हो चुके हैं. क्या आप किसी और क्षेत्र से सीटें हासिल करने की उम्मीद करती हैं?

सुप्रिया सुले: हम अब भी अच्छा करेंगे, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता. वे नेता थे, पार्टी ने उन्हें बनाया था. भले ही वे जीत जाएं लेकिन समय बताएगा कि वे अपने दम पर कितने समय तक टिके रह सकते हैं. हमने बहुत सारे नए उम्मीदवारों, अच्छे विधायकों को खड़ा किया है जो अभी भी हमारे साथ हैं - वे जीतेंगे. हमें पूरे राज्य और यहां तक ​​कि पश्चिमी महाराष्ट्र से भी सीटें मिलेंगी.

तुषार धारा: पिछले पांच सालों में, बीजेपी ने पश्चिमी महाराष्ट्र में चीनी सहकारी समितियों पर एनसीपी और कांग्रेस की पकड़ को तोड़ने की कोशिश की. वे कुछ हद तक सफल हुए हैं. क्या इससे एनसीपी-कांग्रेस को विधानसभा चुनावों में नुकसान होगा?

तुषार धारा कारवां में रिपोर्टिंग फेलो हैं. तुषार ने ब्लूमबर्ग न्यूज, इंडियन एक्सप्रेस और फर्स्टपोस्ट के साथ काम किया है और राजस्थान में मजदूर किसान शक्ति संगठन के साथ रहे हैं.

Keywords: Maharashtra Nationalist Congress Party Farmer Suicides Congress party BJP
कमेंट